---Advertisement---

भीषण अग्निकांड में दो लोगों की जलकर मौत तो वहीं दो अन्य गंभीर घायल, कई मवेशी भी जले।

---Advertisement---

लखीमपुर खीरी: जनपद की तहसील निघासन अंतर्गत सिंगहा कला निवासी संतराम के छप्पर में बृहस्पतिवार दोपहर करीब 12 बजे अचानक आग लग गई। देखते ही देखते आग ने संतराम की मां रामगुनी (50) पत्नी भागीरथ को चपेट में ले लिया। आग लगने के दौरान रामगुनी अपनी बहू पूजा पत्नी सहजराम के साथ छप्पर में सो रही थीं। अचानक लपटें देख रामगुनी ने बहू पूजा को मिट्टी की डेहरी पर चढ़ा दिया। पूजा दीवार फांदकर बाहर निकल गई, लेकिन रामगुनी फंस गईं। उनके ऊपर जलता छप्पर गिर गया। कुछ ही देर में उनकी मौत हो गई।
इस बीच आग की लपटें रामगुनी की ननद संगीता (35) पत्नी जगदीश के घर तक पहुंच गई। संगीता कमरे में 13 वर्षीय बेटे सचिन के साथ सो रही थीं। कमरे के पास बना बंगला जलने लगा तो वह जाग गई। उन्होंने सचिन को कमरे से बाहर निकाल दिया लेकिन खुद लपटों में घिर गईं। जलने से उनकी मौत हो गई। इस अग्निकांड में दो दर्जन के ऊपर छप्पर जलकर राख हो गए तो वहीं लगभग एक दर्जन पशु जिंदा जल गए। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने किसी तरह आग पर काबू पाया। इस अग्निकांड में लगभग 40 से 50 लाख के नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है।
अग्निकांड में झुलसे लोगों को सीएचसी भेजा गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। मौके पर पहुंचे एसडीएम अश्वनी सिंह व तहसीलदार भीमचंद्र ने सभी को सांत्वना देकर हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

पत्रकारिता जगत में एक ऐसा नाम जो निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए जाना जाता है।

---Advertisement---
PT 2
PT 4
PT 3
PT 1
P Adv

Leave a comment