---Advertisement---

अयोध्या में विधानसभा व लोकसभा का होगा उपचुनाव आखिर ऐसा क्यों बोले आचार्य परमहंस।।

---Advertisement---

अयोध्या: यूपी में लोकसभा चुनाव परिणाम को देख समाजवादी पार्टी में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है क्योंकि समाजवादी पार्टी ने यहां अच्छा प्रदर्शन किया है। बीजेपी के द्वारा अयोध्या में चहुमुखी विकास कराया गया व काफी अरसे से चले आ रहे राम मंदिर विवाद पर पूर्ण विराम भी लगाया और आज अयोध्या में भव्य राम मंदिर में दर्शन हेतु लोग आते है।

इसी बीच अयोध्या के आचार्य परमहंस का एक विवादित बयान सोशल मीडिया पर वायरल है। उन्होंने कहा है की अयोध्या की अति महत्वपूर्ण सीट बीजेपी जानबूझ कर हारी है। क्योंकि भगवान राम ने सबरी के झूठे बेर खाए थे और केवट को गले लगाया था इसे राम राज्य कहते है। बीजेपी ने निर्णय किया की इंडिया गठबंधन ने जिस प्रत्याशी को चुनावी मैदान में उतारा है वह दलित समाज से है और अत्यंत वयोवृधि है। बुजुर्ग के साथ दलित के सम्मान में बीजेपी ने जानबूझ करके अपने लोगों से कहा की इस बार वोट एक दलित के सम्मान में सभी लोग अवधेश प्रसाद को दीजिए और वो जीत गए।
आचार्य परमहंस ने यह भी कहा की अवधेश प्रसाद इतने बुजुर्ग है की वो एक ही दो महीने के मेहमान है। लोकसभा चुनाव जीतने के बाद अवधेश प्रसाद विधायक की सीट छोड़ेंगे जिससे वहां विधानसभा का उपचुनाव होगा और बीजेपी चुनाव जीत लेगी और एक दो महीने के बाद अयोध्या में लोकसभा का भी उपचुनाव होगा जिसे बीजेपी लगभग 5 लाख वोटों से जीतेगी। उन्होंने कहा की यह बीजेपी का उदार व्यक्तित्व है। बीजेपी के बड़े नेताओं ने कहा है की दलित, बुजुर्ग व महिला चाहे किसी भी पार्टी में हो इनके लिए अत्यंत आदरणीय है, यही राम राज्य का स्वरूप है। उन्होंने यह भी कहा की जो लोग नही समझ पा रहे है वो अयोध्या के खिलाफ अपनी बात रख रहे है। ये लोग सच्चाई को समझे यही राम राज्य की आधार शिला है।

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

पत्रकारिता जगत में एक ऐसा नाम जो निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए जाना जाता है।

---Advertisement---
PT 2
PT 4
PT 3
PT 1
P Adv

Leave a comment