---Advertisement---

पति की मौत के कई महीने बाद महिला हुई गर्भवती, झोलाछाप से कराया गर्भपात महिला की हुई मौत।

---Advertisement---

लखीमपुर खीरी: पढुआ थाना इलाके के कहौहा गांव में पति की मौत के कई महीने बाद एक महिला के गर्भ ठहरने पर उसका रकेहटी के झोलाछाप डॉक्टर से गर्भपात कराया गया। गर्भपात के बाद महिला की हालत बिगड़ गई। तीन दिन तक चले इलाज के बाद महिला की मौत हो गई। मामले में मृतक महिला के भाई ने आरोपी के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है।

मजदूरी पर सीवर की सफाई कर रहे पिता और पुत्र की गड्ढे में गिरने से हुई मौत।

पढुआ थाने के गांव के युवक ने बताया कि उसकी बहन का विवाह इसी थाना क्षेत्र के गांव के युवक से हुआ था। उसके बहनोई की चार माह पूर्व मौत हो गई थी। आरोप है कि उसकी बहन के संबंध पड़ोस के ही एक युवक से हो गए। बहन के पेट में गर्भ ठहरने पर पड़ोसी युवक गर्भपात के लिए महिला को रकेहटी कस्बे में ले जाकर आपरेशन करा दिया। उसके बाद उसे घर छोड़ दिया। घर आने के बाद महिला की हालत फिर खराब हो गई। इसके बाद आरोपी ने महिला को लखीमपुर के किसी निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया और खुद वहां से लापता हो गया। इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई।

झोलाछाप डॉक्टर के गलत उपचार से हुई अधेड़ की मौत, ऐसे डॉक्टरों पर आखिर विभाग क्यों नहीं करता कार्यवाही।।

बताया जाता है कि इससे पहले महिला के देवर ने भी मामले में तहरीर दी थी, लेकिन मामला स्वजातीय होने की वजह से दबाव बनाकर सुलह समझौता करा दिया गया। अब महिला के भाई ने पुलिस से शिकायत की है। एसओ हरिकेश राय के मुताबिक महिला के रिश्तेदारों की तहरीर पर शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

पत्रकारिता जगत में एक ऐसा नाम जो निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए जाना जाता है।

---Advertisement---
PT 2
PT 4
PT 3
PT 1
P Adv

Leave a comment