---Advertisement---

वरिष्ठ आईएएस देवेश चतुर्वेदी बने एपीसी तो नरेंद्र भूषण को सौंपी गई पंचायती राज विभाग की कमान।

---Advertisement---

रिपोर्ट:- दीप शंकर मिश्र”दीप”
लखनऊ: लोकसभा चुनाव संपन्न होते ही योगी सरकार ने अधिकारियों के ताबड़तोड़ तबादले किए है। कई जिलों के डीएम व एसपी से लेकर वरिष्ठ आईएएस व आईपीएस अधिकारियों को भी इधर उधर किया गया है। 30 जून को यूपी के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा की सेवा समाप्त होने के बाद मुख्य सचिव की कुर्सी पर 1988 बैच के आईएएस अधिकारी मनोज कुमार सिंह को बैठाया गया है। मनोज कुमार सिंह के मुख्य सचिव बनते ही उनके पास अहम विभागों की जिम्मेदारीयों को अन्य अधिकारियों में बांटी गई है।
1989 बैच के तेजतर्रार एवम अत्यंत कर्तव्यनिष्ठ वरिष्ठ आईएएस अधिकारी देवेश चतुर्वेदी को एपीसी बनाया गया है। यह पद मुख्य सचिव के बाद सबसे अहम पद माना जाता है।
1992 बैच के तेजतर्रार एवम अत्यंत कर्तव्यनिष्ठ वरिष्ठ आईएएस अधिकारी नरेंद्र भूषण को पंचायती राज विभाग की अहम जिम्मेदारी सौंपी गई है। इनके पास ऊर्जा विभाग का अतिरिक्त प्रभार भी है।
पंधारी यादव को प्रमुख सचिव विज्ञान एवम प्रोधोगिकी बनाया गया है। अनुराग यादव को सचिव कृषि बनाया गया है।

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

पत्रकारिता जगत में एक ऐसा नाम जो निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए जाना जाता है।

---Advertisement---
PT 2
PT 4
PT 3
PT 1
P Adv

Leave a comment