---Advertisement---

9 साल का प्रभात रंजन बना एक दिन के लिए वाराणसी जोन का एडीजी, पुलिसकर्मियों ने किया सैल्यूट।

---Advertisement---

वाराणसी: हमने अक्सर सुना होगा की हर इंसान की कोई न कोई मंजिल होती और हर इंसान अपनी मंजिल को पाने के लिए निरंतर उसके ख्वाब देखता रहता है। कुछ लोगों के सपने तो सच हो जाते है मगर कुछ लोगों के सपने महज सपने ही रह जाते है। बहुत से लोग तो ऐसे भी होते है जो अपने सोने सच करने के लिए जिंदगी मौत से लड़ते है।

आज हम एक ऐसी हकीकत से आपको रूबरू कराएंगे जो इन दिनों सोशल मीडिया से लेकर प्रिंट मीडिया पर सुर्खियों में है।
हम बात कर रहे है प्रतापगढ़ के तेकुना के रहने वाले प्रभात रंजन की जो 9 वर्ष के है। प्रभात कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहा है। प्रभात के ब्रेन ट्यूमर है जिसका इलाज महामना कैंसर अस्पताल वाराणसी में चल रहा है। प्रभात की दिली इच्छा है की वो बड़ा होकर आईपीएस अधिकारी बने और देश की सेवा करे। इस बात की जानकारी जब वाराणसी जोन के एडीजी पीयूष मोर्डिया को हुई तो उन्होंने प्रभात से मुलाकात कर उनसे बात की यहीं नहीं एडीजी पीयूष मोर्डिया ने उन्हें मंगलवार को एक दिन का वाराणसी जोन का एडीजी बना दिया। 9 साल का प्रभात रंजन एडीजी की वर्दी पहन आफिस में कुर्सी पर बैठा था तो सभी अधिकारी हैरत में उसे देख रहे थे और हाथ मिलाकर सभी ने सेल्यूट किया। एक दिन का एडीजी बनने पर प्रभात रंजन ने काफी ज्यादा खुशी जाहिर की है वहीं एडीजी पीयूष मोर्डिया की इस कार्य की पूरे प्रदेश में सराहना हो रही है।

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

पत्रकारिता जगत में एक ऐसा नाम जो निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए जाना जाता है।

---Advertisement---
PT 2
PT 4
PT 3
PT 1
P Adv

Leave a comment