---Advertisement---

भंगार लेनों हैं थारे कहकर बुजुर्ग को चिढ़ाते फिर उसकी रील बनाते जिससे परेशान बुजुर्ग ने दे दी जान।

---Advertisement---

मृत्यु की दर्दनाक दास्ताँ: “भंगार लेनों हैं थारे”। ये बुजुर्ग भंगार बेचकर अपनी जीविका चलाते थे। इसी दौरान किसी ने इनकी ये रील बना ली और उसे वायरल कर दिया। उसके बाद जीतने भी छपरी क्रिएटर थे वो बाबा को चिढ़ाने लगे। ये जहां से भी जाते वहीं इन्हें “भंगार लेनों हैं थारे” कहकर चिढ़ाते और रील्स बनाते। इससे बाबा चिढ़कर उन पर पत्थर मारते।

कल भी इन्हें कुछ लोग परेशान कर रहे थे। इस दौरान उनके सामने ही ये फांसी पर लटककर अपनी जान दे दी। उनके आख़िरी शब्द थे- “आपने परेशान कर दिया, अब ले लेना मजे, अब आगे कुछ मजाक नहीं बनेगा”। मामला जोधपुर के लोहावट का।

रील्स बनाने की धुन में युवा बच्चे अपनी जान खतरे में डालकर कर रहे खतरनाक स्टंट, देखें वायरल वीडियो।।

बाबा पैदल चल कर गाँव-गाँव व शहर जाकर अपनी मेहनत से कमाई करते। उसके बाद गोशाला में दान करते थे। बताया गया कि ऐसे दान पुण्य की 27 रसीदें प्राप्त हुई। इन्हें ट्रोल करने वालों ने चंद लाइक और वायरल होने के लिए घनघोर पाप किया है।

यूपी के एक छोटे से गांव की रहने वाली शिवानी कुमारी बिग बॉस में आ रही नजर, फीस जमा करने वाले रुपयों से खरीदा था फोन।।

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

दीप शंकर मिश्र"दीप":- संपादक

पत्रकारिता जगत में एक ऐसा नाम जो निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए जाना जाता है।

---Advertisement---
PT 2
PT 4
PT 3
PT 1
P Adv

Leave a comment